न्यायालय

गोड्डा

25 मई, 1983 को जिला गोड्डा अविभाजित बिहार के पचासवें जिले के रूप में अस्तित्व में आया और झारखंड राज्य का 18 वां जिला बन गया जो 15 नवंबर 2000 को उभरा।

जिला के रूप में पहले अस्तित्व 1855 से संतल परगना जिले का उप-प्रभाग था। बुनियादी बुनियादी ढांचे की अनुपस्थिति में जिला अभी भी विकसित है।

गोड्डा न्यायाधीशिता के निर्माण के बाद श्री मदन प्रसाद 26 अप्रैल 1986 को पहली जिला और सत्र न्यायाधीश थे।

गोड्डा जिला संताल परगना डिवीजन के अंतर्गत आता है और इसमें एक सब-डिवीजन गोड्डा और नौ ब्लॉक हैं- बोआरीजोर, गोड्डा, महागामा, पथरगामा, पोरायाहत, सुंदरपाहारी, बसंतराई और ठाकुरगांति। और ग्यारह पुलिस स्टेशन- गोड्डा (टी), गोड्डा (एम), बसंतराई, हनवाड़ा, महागामा, पथरगामा, बोआरीजोर ललमता (ओ.पी.), राजभाथा, पोरैयाहट के साथ देवदार (ओ.पी.), सुंदरपाहारी, मेहरमा, बेलबड्डा और ठाकुरगांगी (ओ.पी.)।
इसमें एक एकल शहर और 2304 गांव 172 पंचायतों के अंतर्गत आ रहे हैं। 2304 गांवों में से 1622 चिरागी और 682 बी-चिरागी हैं।
नगर पालिका क्षेत्र शहरी क्षेत्र के अलावा 7 चिरागी राजस्व गांवों को भी शामिल करता है। जिला का प्रशासनिक मुख्यालय गोदादा है। कुल 1206 राजस्व गांव प्रधानी गांव हैं।

न्यायाधीशों

Sl No. नाम पदनाम
1 श्री मोहम्मद शकीर प्रिंसिपल जिला और सत्र न्यायाधीश
2 श्री राजेश कुमार सिंह संख्या III प्रिंसिपल न्यायाधीश
3 श्री ध्रुव चंद्र मिश्रा जिला और अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश – I
4 श्री संजय प्रताप डिस्ट्रिट और अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश – II
5 श्री आनंद प्रकाश जिला और अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश – III
6 श्री राजेश सिन्हा सीजेएम। सह उप न्यायाधीश II, सह सहायक सत्र न्यायाधीश I

(सिविल न्यायाधीश सीनियर डिवीजन)

क्रम संख्या नाम पदनाम
1 श्री संजीव कुमार वर्मा ए.सी.जे.एम.एम. सह उप न्यायाधीश I, सह सहायक सत्र न्यायाधीश II
2 श्री आनंद सिंह एसडीजेएम। सह न्यायाधीश-इन-चार्ज सह

 प्रधानाचार्य मजिस्ट्रेट, जे जे बी (सिविल न्यायाधीश, जे डी)

 3  श्री राजेश रंजन कुमार  जेएमएम कक्षा (सिविल न्यायाधीश, जे डी)
4 श्री गौतम कुमार जेएमएम कक्षा (सिविल न्यायाधीश, जे डी)
5 श्री रवि कुमार भास्कर जेएमएम कक्षा (सिविल न्यायाधीश, जे डी)